आगरा के किले का इतिहास क्या हैं? Agra Fort Information

आगरा के किले का इतिहास क्या हैं? Agra Fort Information

आगरा का किला और आगरा का ताजमहल भारत की ऐतिहासिक स्थल में शामिल है और इनके पीछे एक बड़ा इतिहास भी छुपा हुआ है।


क्या आप जानते है की आगरा के किले का इतिहास क्या हैं? आगरा के किले का निर्माण किसने किया था? आगरा किला किस पत्थर से बनाया है? इन जैसे सभी सवालों का जवाब आपको यहां मिल जाएगा। Read: आगरा का किला किसने बनाया था?


यदि आप नही जानते हैं तो आज आप सही जगह पर आए है। इस आर्टिकल में मैने आगरा के किले और उससे जुड़ी सारी जानकारी दी है।


तो आइए जानते है की आगरा के किले का इतिहास क्या हैं?

आगरा के किले का इतिहास क्या हैं?

आगरा का किला किसने बनाया था?

आगरा का किला विश्व धरोहर में शामिल किया गया है, इस किले पर अनेक शासकों द्वारा शासन किया गया है। उन्होंने अपने राज में इस किले पर अलग-अलग तरह से नवीनीकरण किया।


इसी वजह से इस किले का निर्माण किसने करवाया यह साफ़ नहीं हुआ है। चूँकि किले के गेट पर लिखा हुआ है की इस किले को 1000 इसवी से भी पहले बनाया गया है।


बताया जाता है की यह किला सबसे पहले सिकरवार वंश के राजपूतों के पास था। बाद में किले पर महमूद गजनवी ने 1080 में कब्जा किया और अपना अधिपत्य स्थापित कर लिया।


महमूद गजनवी के बाद किले पर लोदी वंश का राज हुआ और उन्होंने आगरा के इस किले को अपनी राजधानी बना लिया। उन्होंने भी इस किले के निर्माण में योगदान दिया और इस किले में अपने अनुसार अनेक भवनों का निर्माण करवाया।

लोदी वंश का किले से पलायन

1526 ईसवी तक लोदी वंश का आगरा के किले यानि बादलगढ़ के किले पर राज रहा लेकिन पानीपत के प्रथम युद्ध में लोदीयों के हार जाने के बाद इस किले पर मुगलों का राज हुआ।


मुगल वंश के संथापक बाबर के पुत्र हुमायूं ने आगरा के किले पर कब्जा किया और लोदी वंश की पूरी सम्पत्ति को लूट लिया। उनके इस कारनामे से इस किले की हालत बद्दतर हो गई।

मुगलों से किले का अधिकार मिला शेरशाह सूरी को

1540 में हुमायूं का युद्ध शेरशाह सूरी से हुआ, इस युद्ध में मुगल वंश का राजा हुमायूं युद्ध हार गया और इस किले पर अब कब्जा शेरशाह सूरी का हो गया। सूरी ने इस किले पर करीब 15 साल तक अपना कब्जा जमाए रखा।

सूरी से मुगलों से किले को एक बार फिर जीता

1555 में शेरशाह सूरी के साथ मुगल बादशाह हुमायूं का युद्ध हुआ, इस युद्ध में सूरी बुरी तरह से हारा और मुगलों का एक बार फिर इस किले पर कब्जा हो गया। इस बार हुमायूं ने इस किले पर कुछ ज्यादा ध्यान नहीं दिया।

अकबर ने किले का करवाया विनिर्माण

मुगलों के राजा अकबर ने 1558 में आगरा के इस किले को देखने आये तो इस किले की हालत बद्दतर थी, अकबर ने इस किले का विनिर्माण शुरू करवाया और इस किले के निर्माण में करीब 8 साल लगे। 1565 से शुरू हुआ निर्माण 1573 में पूरा हुआ।


इतिहास में कुछ लोग लिखते है की मुगलों ने इस किले का निर्माण करवाया लेकिन सच यह है की इस किले का निर्माण मुगलों ने नहीं राजपूतों ने करवाया।

हाँ मुगलों ने इस किले का विनिर्माण कराया था। मुगलों ने लाल बलुआ पत्थरों से यानि ईंटो से इस किले का निर्माण करवाया था।

आगरा का किला संगमरमर से निर्माण

आगरा का किला किसने बनाया था?

आज आगरा का किला सफेद संगमरमर के पत्थरों से बना हुआ है। अकबर के पौते शाहजहां ने इस किले की कुछ दीवारों एंव इमारतो को तोड़कर अपने अनुसार सफ़ेद पत्थर से कुछ मकबरे एंव दरवाजे बनाये। यहाँ पर मुमताज महल भी सफेद संगमरमर से बनाया गया है।


शाहजाहं ने अपने जीवन के सबसे ज्यादा वर्ष इसी किले में बिताये। बताया जाता है की शाहजाहं के पुत्र औरंगजेब ने सत्ता के लालच में उन्हें कैद कर दिया था।


बताया जाता है की शाहजाहं अंतिम समय तक आगरा का ताजमहल और मुमताज महल को देखते हुए मृत्यु के वश में चला गया। उसकी मृत्यु 31 जनवरी 1666 में हो गई।

मराठा का अधिपत्य आगरा के किले पर

मराठाओ ने आगरा के किले को 18वीं सदी में जीत लिया, मुगलों के बाद मराठा ने इस किले को और भी खुबसुरत और संपत्तिवान बना दिया लेकिन उनकी यह जीत ज्यादा वर्षों तक नहीं रही।


1761 में में पानीपत की तीसरी लड़ाई में मराठा से इस किले को अहमद शाह अब्द्ली ने छीन लिया। 1785 में एक बार फिर महादजी शिंदे ने इस किले पर अपना कब्जा जमाया लेकिन अंग्रेजो के साथ हुए युद्ध में उन्होंने इस किले को हार दिया और अंग्रेजो ने इस किले पर अपना राज जमा लिया।

15 अगस्त 1947 को आजाद हुआ किला

आगरा का किला अंग्रेजो के शासन तक उन्ही के under रहा, जब देश आजाद हुआ तो अंग्रेजो से इस किले को भी छीन लिया गया लेकिन अंग्रेजो ने इस किले की संम्पत्ति पूरी तरह से खत्म कर दी और लूटकर अपने देश ले गये।

आगरा के किले से जुड़ी जानकारी

  • आगरा का किला 94 एकड़ क्षेत्रफल में फैला हुआ है।
  • यह ताजमहल से मात्र 2 किलोमीटर दुरी पर स्तिथ है।
  • इस किले की चारों तरफ की दीवारों की उंचाई 70 फीट है।
  • इस किले की निर्माण में लाल बलुआ पत्थरों का उपयोग किया गया है। यही वजह है की इस किले को लाल किला भी कहा जाता है।
  • इस किले के चार दरवाजे है जिनका नाम अलग-अलग रखा गया है, दिल्ली दरवाजा, लहौर दरवाजा, हाथी पॉल और खिजडी दरवाजा भी है।
  • अंग्रेजो ने इस किले को काफी क्षति पहुंचाई, बैरेक बनाने के लिए अनेक इमारतो को तोडा गया था।

किले में मौजूद प्रमुख इमारते

आज इस किले में यह इमारते मौजूद है हालाँकि अलग-अलग राजाओ ने अलग-अलग इमारतों का निर्माण करवाया था लेकिन यह इमारते आज भी अपनी पहचान बनाये हुए है जो किले के अंदर बनी हुई है।

  • जहांगीर महल
  • अंगूरी बाग़
  • खास महल
  • मुसम्मन बुर्ज
  • शीश महल
  • दीवान- ए-ख़ास
  • दीवान-ए आम
  • नगीना मस्जिद
  • मोती मस्जिद
  • नौबत खाना

आगरा का किला किस पत्थर से बना हुआ है?

अक्सर यह सवाल पूछा जाता है और बहुत से लोग कंफ्यूज हो जाते है। चूँकि इस किले पर अलग-अलग शासकों ने अलग-अलग निर्माण करवाया है।


लेकिन आज भी मौजूद पत्थरों की बात करें तो लाल बलुआ पत्थरों से इस किले का निर्माण हुआ है। इस किले में संगमरमर का परिसर बना हुआ है जो शाहजाहं ने बनवाया था। लाल बलुआ पत्थरों से बनने की वजह से ही इस किले को लाल किला भी कहा जाता है।

Final Conclusion –

तो दोस्तो आज के इस आर्टिकल में मैने आपको आगरा किले से जुड़ी जानकारी दी है जिसमे बताया है कि आगरा के किले का इतिहास क्या हैं? और आगरा का किला किस पत्थर से बना हुआ है?


आगरा किले का निर्माण किसने किया और आगरा किले की इतिहास के बारे में बताया है। मुझे उम्मीद है कि आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। आगरा किले की यह ऐतिहासिक जानकारी आपको कैसी लगी?


नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं। यदि कोई सवाल है या कोई जानकारी शामिल करवाना चाहते हैं तो भी नीचे जरूर बताएं।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

No votes so far! Be the first to rate this post.

Sarkari Eye
हम Sarkarieye.com वेबसाइट पर आपको सरकारी योजना, गवर्नमेंट स्कीम्स, ऐतिहासिक स्मारकों, घूमने की जगहों की जानकारी, इंटरनेट से संबंधित जानकारियां और लेटेस्ट जॉब अप्डेट्स के बारे में शेयर करते हैं।