डिजिटल इंडिया क्या है?

डिजिटल इंडिया क्या है?

डिजिटल इंडिया क्या है? आज से 10 या 15 साल पहले जब इतना ज्यादा विकसित नहीं हुआ था तब हमे सरकारी काम करवाने के लिए सरकारी कचहरी के धक्के खाने पद रहे थे।


इसके अलावा कई भ्रष्टाचारी लोगो को मनाना पड़ता था। फिर हमारा काम हो या नही इसकी कोई गारंटी नहीं मिलती थी।

लेकिन जब से भारत के इंटरनेट का विकास हुआ है और भारत सरकार ने जब से भारत में इंटरनेट का उपयोग करके Digital India Mission जारी किया है तब से सरकारी काम करना बहुत हद तक आसान हो चुका है।


माना की आज की कई हिस्सों में इंटरनेट नही पहुंचा है और जहा पहुंचा है वहा इसका सही उपयोग नहीं होता है, लेकिन डिजिटल इंडिया मिशन के तहत उम्मीद है की आगे आनेवाले दिन हमारे लिए अच्छे होगे।

लेकिन यह डिजिटल इंडिया क्या है? इसकी शुरुआत किसने की? इसकी शुरुआत करने के पीछे का मकसद क्या है?
क्या आप जानते है?


यदि नही जानते तो आज आप सही जगह पर आए है। आज के इस आर्टिकल में आइए जानते है डिजिटल इंडिया के बारे में हिंदी में जानकारी…

डिजिटल इंडिया क्या है?

डिजिटल इंडिया क्या है?
नाम :डिजिटल इंडिया
डिजिटल इंडिया की शुरुआत कब हुई :1 जुलाई 2015
शुरुआत करने वाले :श्री नरेंद्रमोदी (प्रधानमंत्री)
डिजिटल इंडिया का मिशन :सम्पूर्ण भारत को डिजिटल बनाना
वेबसाइट :Digitalindia.gov.in

डिजिटल इंडिया भारत सरकार का एक प्रोग्राम या योजना है, जिसके तहत भारत और भारत की जनता को डिजिटल रूप से जागरूक और सशक्त बनाना है।


भारत सरकार ने 1 जुलाई 2015 को डिजिटल भारत की घोषणा करी थी। इस घोषणा में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने कहा, उनकी पूरी कोशिश रहेगी देश के लोगों को सरकारी विभाग से इन्टरनेट के माध्यम से जोड़ने की।


सरकार अपने इस मकसद में काफी हद तक सफल भी हुई है अभी डिजिटल इंडिया की घोषणा को पांच साल हो गये है।

इन पांच सालों में हमें बैंकिंग, सरकारी क्षेत्र और हॉस्पिटल की सेवाओं में हमें काफी सुधार देखने को मिला है।

सरकार के अनुसार आने वाले 15 सालों में भारत हर एक गाँव इन्टरनेट से जुड़ा होगा एंव वह अपने घर से ही अनेक सरकारी कार्यालयों के काम पुरे कर पायेगा।

डिजिटल इंडिया के मुख्य घटक –

डिजिटल इंडिया के तहत सरकार अनेक सरकारी कार्यों को बिना किसी कागजी कार्यवाही के सम्पन्न करना चाहती है। सरकार का मकसद है की वह इलेक्ट्रोनिक रूप से सरकारी कार्यालयों एंव जनता को आपस में जोड़ पाए।


इसके लिए सरकार ने डिजिटल इंडिया के तीन घटक भी सुनिश्चित किये है –

  • भारत के प्रत्येक नागरिक को डिजिटल इंडिया के फायदों एंव उपयोगिता से अवगत (aware) कराना।
  • भारतीय नागरिकों की जरूरत के अनुसार डिजिटल माध्यम से सेवाएं देना।
  • प्रत्येक भारतीय को डिजिटल शक्ति देना।

सरकार द्वारा डिजिटल इंडिया के तहत चलाई जाने वाली योजनायें कौन कौन सी है?

भारत सरकार डिजिटल इंडिया को प्रोमोट करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है, सरकार के द्वारा अनेक ऐसी योजनाएं शुरू की गई है। जिनकी मदद से लोगों को डिजिटल इंडिया से जोड़ा जा रहा है।


हालाँकि शुरूआती दौर काफी कठिन रहा लेकिन आज के नवयुवा डिजिटल इंडिया को जमकर प्रोमोट कर रहे है।


सरकार द्वारा डिजिटल इंडिया के तहत चलाई गई है, उसमे से कई योजनाएं इस तरह से है जैसे –

मोबाइल कनेक्टिविटी (Mobile Connectivity)

भारत सरकार की इस योजना के माध्यम से सरकार का लक्ष्य है की 2025 तक भारत के हर एक इंसान के पास मोबाइल हो।


ताकि वह इन्टरनेट के माध्यम से सरकार की सभी योजनाओं एंव सरकारी कार्यालयों से जुड़ पाए। सरकार अनेक ऐसे नए एप्प भी बनाने में लगी है जो इन कार्यों को काफी आसान बनाएगी।

पब्लिक इन्टरनेट एक्सेस कार्यक्रम (Public Access Program)

यह योजना सरकारी विभागों के लिए बहुत महत्व रखती है, सरकारी विभागों को इन्टरनेट से जोड़ने का कार्य शुरू हो चूका है।


आज हमारे नजदीकी क्षेत्र में अनेक सरकारी विभाग ऑनलाइन सेवा देना शुरू कर चुके है। यहाँ तक की सरकारी योजनाएं एंव कार्यालयों से जुड़ी सभी जानकारी नागरिक ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।

ई-क्रांति (E- Revolution) –

इस योजना के माध्यम से सभी जरूरी सुविधाओं को लिस्ट किया गया है जिनमे हॉस्पिटल, कॉलेज, बैंकिंग इत्यादि क्षेत्र में फ्री वाईफाई जैसी सुविधा उपलब्ध करवाई जायेगी।


यहाँ मौजूद इन्टरनेट से नागरिक सरकारी विभाग के अनेक वेबसाइट एंव एप्लीकेशन का एक्सेस ले पायेंगे।

ई-गवर्नेस (E-Governance) –

इस योजना के माध्यम से आवेदन जैसी सुविधाओं को ऑनलाइन करना है। कुछ सालों पहले तक ऑफलाइन आवेदन किये जाते थे किसी भी जॉब इत्यादि के लिए लेकिन आज हम ऑनलाइन आसानी से आवेदन कर पाते हैं।


लेकिन आज भी अनेक सरकारी जॉब्स में हमें बैंक द्वारा चालान कटवाना पड़ता है।

पर अभी आने वाले समय में पेमेंट गेटवे इत्यादि को पूरी तरह से आवेदन प्रक्रिया पर लागू कर दिया जाएगा और सभी डॉक्यूमेंट को डिजिटल माध्यम से जोड़ दिया जाएगा।


इससे हम घर बैठे किसी भी तरह का कोई भी आवेदन ऑनलाइन कर पाएंगे। यह अभी भी हो रहा है लेकिन सरकारी क्षेत्र में यह सुविधा अभी तक पूर्णत: शुरू नहीं हुई है।

इलेक्ट्रोनिक्स विनिर्माण की और भारत को ले जाना

डिजिटल इंडिया के तहत सरकार की एक योजना यह भी है जिसमे सरकार इलेक्ट्रोनिक्स उपकरण भारत में ही बनाना चाहती है।


ऐसे में सरकार भारत में ही लैपटॉप, मोबाइल, स्मार्ट कैमरा, सेटअप बॉक्स इत्यादि चीजे भारत में ही विनिर्माण करना चाहती है।

आईटी फ़ोर जॉब्स: गाँवों को कंपनियों से जोड़ेगी सरकार

सरकार कौशल विकास योजना के माध्यम से ग्रामीणों को कंपनियों की कार्यप्रणाली के अनुसार तैयार किया जाएगा। उन्हें कंपनियों के काम से अवगत करवाया जाएगा। ताकि ग्रामीणों को आसानी से रोजगार प्राप्त हो सके।


सरकार लगातार डिजिटल माध्यम से ग्रामीणों को कंपनियों के कार्यों के बारें में विस्तार से जानकारी उपलब्ध करवा रही है।

अर्ली हार्वेस्ट कार्यक्रम

सरकार द्वारा अपनी नीतियों में बदलाव लाया जा रहा है, सरकार ऐसे सिस्टम पर काम करने वाली है जिसमे गलतियों और भ्रष्टाचार के लिए कोई जगह नहीं होगी। अभी सरकार डिजिटल बायोमेट्रिक अटेंड्स सिस्टम लेकर आ रही है।


इसके साथ ही आम नागरिको के लिए डीजीलोकर इत्यादि ऐसे एप्प लेकर आई है जिसकी मदद से उनके डॉक्यूमेंट आसानी से उनके पास रहे।


यहाँ तक की उनके डॉक्यूमेंट का कोई गलत इस्तेमाल भी ना कर पाए। सरकार आधार सिस्टम को जोड़कर सभी भारतियों का एक डाटाबेस बनाने जा रही है। इसकी मदद से किसी भी गुमशुदा को खोजने में काफी मदद मिलने वाली है।


तो दोस्तो यहां तक आपने डिजिटल इंडिया क्या है? के बारे में बेसिक सी जानकारी जानी, लेकिन आइए आखिर में आसान से शब्दो में समझ लेते है की आखिर ये डिजिटल इंडिया है क्या?

डिजिटल इंडिया क्या है? आसान भाषा में

डिजिटल इंडिया क्या है?

तो दोस्तो आज हम COVID19 में भी घर बैठे आसानी से काम कर पा रहे है, बच्चे आसानी से स्कूल की पढाई घर पर कर पा रहे हैं।


बिना बैंक जाए हम आसानी से बैंकिंग की सुविधा ले पा रहे हैं, यहाँ तक की सरकारी कार्यालयों एंव जॉब्स के लिए हम घर बैठे ही आवेदन कर पा रहे हैं।


यह सब डिजिटल इंडिया के तहत ही आता है। डिजिटल इंडिया एक ऐसी प्रणाली है जो हम भारतियों को इन्टरनेट के माध्यम से सरकार एंव सरकारी योजनाओं से जोड़ती है। भविष्य में सरकार डिजिटल इंडिया में अनेक सुधार लाएगी।


उम्मीद है आने वाला समय भारत के लिए काफी अच्छा साबित होगा और सरकारी विभागों में चलने वाली धांधली पूरी तरह से खत्म हो जायेगी।

Final Conclusion:

दोस्तो देश में उम्मीद जताई जा रही है की Digital India जैसी योजना की वजह से भारत में अब सरकारी काम करने का तरीका काफी हद तक आसान हो जाएगा। जिसे देश का हरेक आदमी इसका सही इस्तेमाल भी कर पायेगा।


तो दोस्तो आज के इस आर्टिकल में आपने जाना की डिजिटल इंडिया क्या है? इस योजना का मकसद क्या है?


मुझे उम्मीद है की इस आर्टिकल में आपको डिजिटल इंडिया को लेकर सारी जानकारी मिल चुकी होगी! फिर भी आप इस आर्टिकल में कोई जानकारी शामिल करवाना चाहते हैं या कोई सवाल है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Frequently Asked Questions –

Q. 1: Digital India क्या है?

Ans: Digital India भारत सरकार का एक बड़ा प्रोग्राम या मिशन या योजना कह सकते है। जिसके तहत कई सरकारी विभाग और सरकारी मंत्रालय को शामिल किया है।

डिजिटल इंडिया के योजना के तहत देश की जनता को तकनीकी रूप से और इंटरनेट से जोड़ना है, उन्हें इनके प्रति जागरूक करना है, शसक्त बनाना है और उन्हें सरकार के साथ जोड़ना है। ताकि सभी सरकारी योजना का लाभ वे ले सके और योजनाओं से जागरूक रहे।

Q. 2: डिजिटल इंडिया की शुरुआत कब हुई थी?

Ans: डिजिटल इंडिया की शुरुआत 1 July 2015 में हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा की गयी थी।

Q. 3: डिजिटल इंडिया का उद्देश्य क्या है?

Ans: डिजिटल इंडिया का मुख्य उद्देश्य ही यही है की देश में जो अंतरियाल विस्तार है, जो ग्राम्य विस्तार है उनको high-speed networks से जुड़ा जाए और देश की digital literacy को improve किया जाए।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

No votes so far! Be the first to rate this post.

Sarkari Eye
हम Sarkarieye.com वेबसाइट पर आपको सरकारी योजना, गवर्नमेंट स्कीम्स, ऐतिहासिक स्मारकों, घूमने की जगहों की जानकारी, इंटरनेट से संबंधित जानकारियां और लेटेस्ट जॉब अप्डेट्स के बारे में शेयर करते हैं।