International Space Station (ISS) क्या है?

International Space Station (ISS) क्या है?

International Space Station (ISS) क्या है? क्या आप इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के बारे में जानते हैं? दोस्तों आज की तारीख में अंतरिक्ष में हर देश की अंतरिक्ष एजेंसी काम कर रही है।

हाल ही में भारत ने सफलतापूर्वक मंगलयान लॉन्च किया था।इसके अलावा दुनिया के और भी कई ऐसे देश है जो अंतरिक्ष में काम कर रहे है।

नासा और अन्य देश ने मिलकर अपना स्पेस स्टेशन भी अंतरिक्ष में लॉन्च कर दिया है, जिसका नाम रखा है इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन
ऐसे में आज बहुत से लोग या जानना चाहते हैं।

कि इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन होता क्या है? यदि आप भी स्पेस स्टेशन और उससे जुड़ी जानकारी जानना चाहते हैं तो आज आप सही जगह पर आए है। तो आइए जानते हैं….

International Space Station (ISS) क्या है?

International Space Station (ISS) क्या है?

इंटरनेशन स्पेस स्टेशन (ISS) एक अंतरिक्ष स्टेशन है, या यू कहे की यह स्पेस स्टेशन इंसान द्वारा बनाई गई एक उपग्रह है, एक बहुत बड़ा उपग्रह है जिसमें एक साथ कई लोग, एक ही बार में कई महीनों तक रह सकते हैं।

इस स्पेस स्टेशन को अलग अलग हिस्सों में जोड़कर बनाया गया है जिसकी मदद से यात्रियों को अंतरिक्ष में ले जाए और सभी यात्री यहां पर रह भी सकते है।

इस स्पेस स्टेशन को 2011 तक लो अर्थ ऑर्बिट में एक साथ रखा गया था, लेकिन इसके बाद इसमें अन्य बिट्स जोड़े गए हैं। इसका अंतिम भाग, एक बिगेलो मॉड्यूल 2016 में जोड़ा गया था।

यह स्पेस स्टेशन अवकाश में 17500 मिल प्रति घंटे की रफ्तार से पृथ्वी की परिक्रमा करता है और हरेक 90 मिनिट में यह पृथ्वी की एक परिक्रमा को पूर्ण करता है।

इंटरनेशन स्पेस स्टेशन कोई एक देश का प्रोजेक्ट नही है, यह एक बहुराष्ट्रीय अंतरिक्ष प्रोजेक्ट है। जिसके साथ कई अलग अलग देश जुड़े हुए है जैसे की संयुक्त राज्य अमेरिका, रूस, यूरोप, जापान, कनाडा, ब्राजील, इटली और चीन के अलावा अन्य और भी देश इस प्रोजेक्ट में शामिल है।

इंटरनेशन स्पेस स्टेशन (ISS) क्यों महत्वपूर्ण है?

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन एक घर की तरह ही होता है, या यू कहे की स्पेस स्टेशन अंतरिक्ष ऑर्बिट में एक घर है।साल 2000 के बाद हर दिन लोग अंतरिक्ष में रहने आने लगे है। इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन में एक प्रयोगशाला है, जहां पर टीम के मेंबर अलग अलग रिसर्च करते है।

जो रिसर्च पृथ्वी पर नहीं हो सकती है उसे इस स्पेस स्टेशन में किया जाता है। यहां पर वैज्ञानिक अलग अलग स्टडी करते है। इसके लिए नासा ने वैज्ञानिक को स्पेस में काम करने के तरीके को भी सिखाया है, जो भविष्य के लिए महत्वपूर्ण होता है।

भविष्य में कुछ प्रोजेक्ट है या इंसान को अंतरिक्ष भेजने के लिए जो प्लानिंग हो रही है, पृथ्वी के अलावा दूसरे ग्रहों की तलाश जहा पर हम आगे जा सकते हैं इत्यादि जैसे नासा के कई प्लान है।

कई नई अंतरिक्ष योजनाएं है तो इन सब के लिए INTERNATIONAL SPACE STATION सबसे महत्वपूर्ण है और आगे यदि हम यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजते हैं तो उसके लिए हम इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन का भी उपयोग कर सकते हैं।

International Space Station (ISS) कितना पुराना है?

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन बनाने की शुरुआत 1984 से हो गई थी। जब अमेरिकी राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन ने अपने देश की अंतरिक्ष एजेंसी नासा को एक स्पेस स्टेशन बनाने का आदेश दिया।

उसके बाद इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन का पहला भाग 1998 में लॉन्च किया गया था। जिसे एक रूसी रॉकेट की मदद से टुकड़े को लॉन्च किया गया था।बाद में इस स्पेस स्टेशन में कई और अलग अलग पार्ट जोड़े गए।

इस स्पेस स्टेशन में 2 नवंबर 2000 को पहली बार तीन यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजा गया और वहां पर लंबे समय तक रहे।इसके बाद भी समय समय पर नए नए पार्ट जोड़े गए है।

इस स्पेस स्टेशन को बनाने के लिए नासा के अलावा अलग अलग देशों ने भी अपना सहयोग दिया था और इसे 2011 में इस इंटरनेशन स्पेस स्टेशन को तैयार कर दिया।

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (ISS) कितना बड़ा है?

International Space Station (ISS) क्या है?

अब आपके मन से भी यह सवाल आ रहे होगे की ऐसे में यह इंटेनेशन स्पेस स्टेशन कितना बड़ा होगा? तो नासा के मुताबिक यह इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन अंदर से भी उतना बड़ा है कितना की एक पांच बेडरूम वाले घर जितना बड़ा है।

जिसमे दो बाथरूम, एक व्यायामशाला भी शामिल है। इस स्पेस स्टेशन में 6 लोग एक साथ रह सकते हैं। इसका वजन लगभग एक मिलियन पाउंड है और यह एक फुटबॉल मैदान से भी काफी बड़ा है।

इस स्पेस स्टेशन में संयुक्त राज्य अमेरिका, रूस, जापान और यूरोप की वैज्ञानिक प्रयोगशाला भी शामिल हैं।

Final Conclusion –

दोस्तो आज के इस आर्टिकल में मैने आपको International Space Station (ISS) क्या है? के बारे में जानकारी बताइ है। जिसमें आपने जाना कि इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन क्या है?

इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन की शुरुआत कब हुई? इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन कितना बड़ा है? और इंटरनेशनल स्पेस से जुड़ी और भी कई जानकारी दी है।

मुझे उम्मीद है कि आपको यह आर्टिकल इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन के बारे में जानकारी पसंद आई होगी। इस आर्टिकल को लेकर यदि आपके मन में कोई सवाल है या फिर आप कोई जानकारी शामिल करवाना चाहते हैं तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

Frequently Asked Questions (FAQ) –

  1. इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन की कीमत कितनी है?

    Ans. इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन की कीमत 15,000 crores USD है।

  2. दुनिया में अभी तक कितने स्पेस स्टेशन है?

    Ans. दुनिया में अभी तक सिर्फ एक ही स्पेस स्टेशन है, जिसका नाम है इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन, International Space Station (ISS)

  3. सबसे पहले इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन कब लॉन्च हुआ था?

    Ans. इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन 20 November 1998 को लॉन्च हुआ था।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Sarkari Eye
हम Sarkarieye.com वेबसाइट पर आपको सरकारी योजना, Career Tips, ऐतिहासिक स्मारकों, घूमने की जगहों की जानकारी, इंटरनेट से संबंधित जानकारियां और लेटेस्ट जॉब अप्डेट्स के बारे में शेयर करते हैं।