कक्षा 12वी Arts के बाद क्या करे? ये है Top 10 Courses

कक्षा 12वी Arts के बाद क्या करे? ये है Top 10 Courses

कक्षा 12वी Arts के बाद क्या करेजब भी हम किसी 12वी आर्ट्स के स्टूडेंट से मिलते है तो वे इस सवाल का सही जवाब नही दे पाते है।


ज्यादातर स्टूडेंट 12वी आर्ट्स के बाद कॉम्पिटेटिव एग्जाम की तैयारी करने में जुड़ जाते है, कुछ लोग छोटी मोटी नौकरी करने लग जाते है। लेकिन अभी अभी कई स्टूडेंट को 12वी आर्ट्स के बाद क्या करे? इसका सही जवाब नही मालूम है।

Table of Contents

कक्षा 12वी Arts के बाद क्या करे?


12वी आर्ट्स के बाद क्या करे, कौन सा कोर्स करे? इन सब के बारे में सही जानकारी ही नहीं है। यदि आपने भी अभी अभी 12वी आर्ट्स पास की है या एडमिशन लिया है और आगे अपना अच्छा कैरियर बनाना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में मैने 10 बेहतरीन कोर्स के बारे में बताया है। Read: पढ़ाई करने के साथ Part-Time जॉब क्यों है जरूरी? कैसे करें? जाने इसके फ़ायदे


जिसे आप 12वी आर्ट्स के बाद कर सकते हैं और अच्छा करियर बना सकते हैं। तो आइए जानते हैं…

12वी Arts स्टूडेंट्स के लिए प्रोफेशनल कोर्सेज

कक्षा 12वी Arts के बाद क्या करे? ये है Top 10 Courses

1. बैचलर इन फैशन डिजाइनिंग

12वी के बाद जिन स्टूडेंट को कुछ अलग करना होता है, जो अपनी क्रिएटिविटी पर काम करना पसंद करते हैं तो उनके लिए यह एक बेहतरीन कोर्स है।


बैचलर इन फैशन डिजाइनिंग कोर्स में स्टूडेंट की अपनी क्रिएटिविटी होना बहुत ही जरूरी है, जिसमे आपको अलग अलग रंग और डिजाइन करके कुछ नया एक्सपेरिमेंट करना होता है। नई चीजे डेवलप करनी होती है।


इसके अलावा इस कोर्स में आपको अपनी कम्युनिकेशन जैसी सॉफ्ट स्किल्स भी डेवलप करनी होती है और अपने फैशन इंडस्ट्री से आपको active रहना होता है। ट्रेंड के हिसाब से आपको मार्केट में नया डिजाइन करना होता है।

बैचलर इन फैशन डिजाइनिंग कोर्स कैसे करे और योग्यता:

यदि आप 12वी के बाद फैशन डिजाइनिंग में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपको 12वी कक्षा में 50 प्रतिशत अंको के साथ पास होना जरूरी है।


इसके अलावा कई कॉलेज और यूनिवर्सिटी में प्रवेश के लिए उनकी entrance exam भी देनी होती है।

2. बैचलर इन मास कम्युनिकेशन

बैचलर इन मास कम्युनिकेशन 3 साल का एक प्रोफेशनल कोर्स है। जो स्टूडेंट जर्नलिज्म, न्यूज रिपोर्टर, फ्रीलांस राइटर, फोटो जर्नलिज्म इत्यादि जैसे फील्ड अपना कैरियर बनाना चाहते हैं उनके लिए यह एक बेहतरीन कोर्स है।


बैचलर इन मास कम्युनिकेशन तहत स्टूडेंट को रेडियो, टीवी, न्यूजपेपर, एडवरटाइजिंग, पब्लिक रिलेशन, इवेंट मैनेजमेंट, मार्केटिंग इत्यादि के बारे में पढ़ाया जाता है।

बैचलर इन मास कम्युनिकेशन के लिए योग्यता:

यदि कोई स्टूडेंट बैचलर इन मास कम्युनिकेशन में एडमिशन लेना चाहते है तो उन्हें 12वी कक्षा में पास होना जरूरी है।


12वी के बाद आप मास कम्युनिकेशन के बैचलर की डिग्री के लिए 3 साल की पढ़ाई करनी होती हैं और इसके बाद यदि आप इसमें मास्टर की पढ़ाई करना चाहते हैं तो उसके लिए 2 साल की पढ़ाई करनी होती है।

3. बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स

BFA या बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स एक अंडरग्रेजुएट डिग्री कोर्स है जो विजुअल या परफॉर्मिंग आर्ट्स के पढ़ाई से संबंधित है। इस कोर्स को बैचलर ऑफ विजुअल आर्ट्स के नाम से भी जाना जाता है।


जिसमे आपको painting, photography, animation, साहित्य जैसे विषय शामिल होते है। आज भारत में बहुत सारी यूनिवर्सिटी में इस कोर्स को पढ़ाया जाता है।


बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स कोर्स 3 से 4 साल का कोर्स है, जिसे आप पार्ट टाइम, फुल टाइम, ऑनलाइन और distance-learning भी कर सकते हैं।


इस कोर्स को करने के बाद आप आर्ट टीचर, फाइन आर्ट्स, कार्टूनिस्ट, एनिमेटर, ग्राफिक डिजाइनर जैसी पोस्ट में अपना कैरियर बना सकते हैं।

बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स के लिए योग्यता:

बैचलर ऑफ फाइन आर्ट्स में प्रवेश लेने के लिए आपको 12वी कक्षा में 50% मार्क्स के साथ पास होना जरूरी है। इसके अलावा आपको आर्ट्स के विषय को लेकर थोड़ी बहुत बेसिक जानकारी भी होनी चाहिए।

4. बैचलर ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स

बैचलर ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स (बीपीए) 3-4 साल का अंडरग्रेजुएट कोर्स है। इस डिग्री कोर्स में आपको डांस, म्यूजिक, नाटक जैसे विषय शामिल है या फिर यू कहे की इस कोर्स में एंटरटेनमेंट और उससे जुड़ी तकनीक पर ज्यादा फोकस किया जाता है।


यह कोर्स स्टूडेंट को अपने स्किल्स को सुधारने और डांस, नाटक और म्यूजिक में से किसी एक में एक successful artists बनने में मदद करता है।


बैचलर ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स कोर्स को करने के बाद आप एक्टर, कोरियोग्राफर, म्यूजिक थेरेपिस्ट, डांस टीचर, आर्ट एडमिनिस्ट्रेशन, स्क्रीन राइटर जैसे पोस्ट में अपना कैरियर बना सकते हैं।

बैचलर ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स कोर्स के लिए योग्यता:

बैचलर ऑफ परफॉर्मिंग आर्ट्स कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको 12वी कक्षा में कम से कम 50% से 60% मार्क्स के साथ पास होना जरूरी है। यदि आप इस कोर्स को करना चाहते हैं तो कॉन्फिडेंस होना जरूरी है और हार्डवर्ड, पैशनेट, क्रिएटिव और टाइम मैनेजमेंट जैसी स्किल्स होना भी जरूरी है।

5. बैचलर इन इंटीरियर डिजाइनिंग

दोस्त यदि आपको भी 12वी तक की पढ़ाई के बाद आप अपनी क्रिटिविटी और डिजाइनिंग से जुड़े रहना चाहते है, पसंद करते है, तो बैचलर इन इंटीरियर डिजाइनिंग का कोर्स करना आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है।


इस कोर्स में आपको कम जगह में कैसे कलात्मक और नए तरीके से, नई तकनीक का इस्तेमाल करके आप आकर्षक बनाए, इत्यादि बारे में आपको सिखाया जाता है।


बैचलर इन इंटीरियर डिजाइनिंग 3 साल से 4 साल के कोर्स है। इस कोर्स को करने के बाद आप इंटीरियर डिजाइनर, टेक्सटाइल डिजाइनर, एग्जिबिशन ऑर्गनाइजर, स्पेस प्लानर, इवेंट डिजाइनर, कंसल्टेंट स्टाइलिस्ट, किचन डिजाइनर जैसी पोस्ट में अपना कैरियर बना सकते हैं।

बैचलर इन इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स के लिए योग्यता:

बैचलर इन इंटीरियर डिजाइनिंग कोर्स में एडमिशन लेने के लिए स्टूडेंट को 12वो कक्षा में 50% मार्क्स के साथ पास होना जरूरी है।

6. बैचलर इन ग्राफिक डिजाइनिंग

यदि आपको क्रिएटिविटी पसंद है, हररोज नई क्रिएटिविटी के साथ काम करना पसंद करते है तो 12वी के बाद बैचलर इन ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स आपके लिए बेस्ट ऑप्शन है। इस कोर्स में आपको ग्राफिक को डिजाइनिंग से जुड़ी पढ़ाई जाती है।


ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स आज बहुत से इंस्टीट्यूट में सिखाया जाता है, जो करीब करीब 6 महीने के आसपास का कोर्स होता है। इस कोर्स की फीस 10000 के आसपास होती है।


इस कोर्स को करने के बाद आप आप अपना खुद का बिजनेस, क्लाइंट के लिए काम या फिर किसी कम्पनी में वर्क कर सकते हैं।


अब इस काम के दौरान आपको अपने क्लाइंट के लिए नई क्रिएटिविटी के साथ नए आइडिया के साथ ग्राफिक डिजाइन करने होते है ताकि उनके बिजनेस, इंटीट्यूट को अलग पहचान मिल सके।

बैचलर इन ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स की योग्यता:

बैचलर इन ग्राफिक डिजाइनिंग कोर्स करने के लिए स्टूडेंट को 12वो पास होना जरूरी है और इस कोर्स को आप ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद भी इस कोर्स को कर सकते हैं।

7. बैचलर इन फुटवियर डिजाइनिंग

बैचलर इन फुटवियर डिजाइनिंग कोर्स फुटवियर से जुड़ा हुआ है, जो 1 साल से 3 साल का कोर्स होता है।आज की लाइफस्टाइल को देखते हुए बैचलर इन फुटवियर डिजाइनिंग का कोर्स उन लोगो के लिए अच्छा है जो डिजाइनिंग में इंटरेस्टेड है।


इस कोर्स को करने के बाद आप अलग अलग देश की और विदेश की फुटवियर कंपनी में अपना कैरियर बना सकते है। इस कोर्स के करने के बाद आप लखानी, बाटा, लिबर्टी, नाइकी, रिबॉक जैसी बड़ी कम्पनी में अपना कैरियर बना सकते हैं।

बैचलर इन फुटवियर डिजाइनिंग कोर्स के लिए योग्यता:

बैचलर इन फुटवियर डिजाइनिंग कोर्स में एडमिशन के लिए आप 10+2 करने के बाद इस फुटवियर डिजाइनिंग के कोर्स में प्रवेश ले सकते हैं। यह कोर्स देश के कई इंस्टीट्यूट में सिखाया जाता है।


आपको इस कोर्स में आप अंडर ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स भी कर सकते हैं।

8. बैचलर इन पब्लिक रिलेशन

बैचलर इन पब्लिक रिलेशन कोर्स 3 साल अंडरग्रैजुएट कोर्स है जिसमे 6 सेमेस्टर की पढ़ाई की जाती है। इस कोर्स में स्टूडेंट को स्टूडेंट को किसी भी आर्गेनाइजेशन और public figure में कैसे डिसिप्लिन से अच्छा रिलेशन बनाया जाए के बारे में सिखाया जाता है।


इस कोर्स को अच्छे पूरा करने के बाद आप ग्रेजुएट हो जाते है तो बाद में आप प्राइवेट और गवर्नमेंट सेक्टर में अपना कैरियर बना सकते हैं।


इस ग्रेजुएशन डिग्री के बाद आप हॉस्पिटल, बैंक, टूरिस्ट एजेंसी, हॉस्पिटल, स्पोर्ट्स, पुलिस डिपार्टमेंट जैसे अलग अलग फील्ड में जॉब मिल सकती है और आप अपना कैरियर बना सकते हैं।


ग्रेजुएशन के बाद आपको आसानी से 15 हजार से 50 हजार के बीच में सेलरी मिल जाती है। जैसे जैसे आपको अनुभव होगा आपकी एक्सपर्टाइज बढ़ेगी वैसे वैसे आपकी सेलरी भी बढ़ेगी।


बैचलर इन पब्लिक रिलेशन कोर्स में प्रवेश लेने के लिए स्टूडेंट को अपने 12वी कक्षा कोई भी स्ट्रीम से पास होना जरूरी है और अपनी 12वी कक्षा में 50% मार्क्स के साथ पास होना जरूरी है।

9. बैचलर इन एडवरटाइजिंग

बैचलर इन एडवरटाइजिंग डिग्री कोर्स 3 साल का होता है। इसके अलावा इस कोर्स के कई डिप्लोमा कोर्स भी है, जो 2 साल का होता है। इन कोर्स को बहुत से इंस्टीट्यूट में सिखाया जाता है।


इसके अलावा आप बैचलर डिग्री के बाद मास्टर करना चाहते हैं तो आप मास्टर इन एडवरटाइजिंग भी कर सकते हैं, जो 2 साल का होता है और पीजी डिप्लोमा 1 बर्ष का होता है।


बैचलर इन एडवरटाइजिंग का कोर्स आप 12वी कक्षा पास होने के बाद कर सकते हैं। इसके लिए आप कोई भी स्ट्रीम से पास होना जरूरी है। लेकिन आप मास्टर करना चाहते तो आपको ग्रेजुएशन करना होगा।


गवर्नमेंट कॉलेज में प्रवेश के लिए 12वी कक्षा पास होने के साथ ही आपको उनकी प्रवेश परीक्षा भी देनी होती है और इस परीक्षा के आधार पर आपका मेरिट बनता है। बाद में उसी मेरिट के आधार पर आपको प्रवेश दिया जाता है।


इन कोर्स की फीस 40 से 80 हजार के आसपास होती है। यह फीस कॉलेज और यूनिवर्सिटी पर आधारित होती है की आप किस कॉलेज में प्रवेश लेते है। यदि आप गवर्नमेंट कॉलेज में प्रवेश लेते है तो इन कोर्स की फीस बहुत ही कम होती है।

10. बैचलर इन मीडिया मैनेजमेंट

आज मीडिया मैनेजमेंट का बहुत ही ज्यादा ग्रोथ हुआ है। जब से इंटरनेट सस्ता हुआ है तब से इनकी ग्रोथ काफी अच्छी हुई है और 12वी के बाद के स्टूडेंट के लिए यह एक बेहतरीन कोर्स है।


मीडिया मैनेजमेंट अपने आप में एक बड़ा फील्ड है, जिसे मैनेज करने के लिए अच्छा employees की जरूरत होती है। इस के लिए आप बैचलर इन मीडिया मैनेजमेंट का कोर्स कर सकते हैं।


इस कोर्स के बाद आप नए- नए टीवी चैनल, न्यूज पेपर, वेब पोर्टल, फ़िल्म प्रोडक्शन हाउस में अपना कैरियर बना सकते हैं।


इस कोर्स में प्रवेश के लिए भी आपको कोई भी स्ट्रीम से 12वी कक्षा पास होना जरूरी है।

Final Conclusion

So Guys आज के इस आर्टिकल में मैने आपको कुछ बेहतरीन कोर्स के बारे में जानकारी दी है, जिसे आप 12th Arts के बाद कर सकते हैं। यह कोर्स करने से आप गवर्नमेंट और प्राइवेट सेक्टर में अच्छी जॉब भी कर सकते हैं और चाहे तो अपना खुद का बिजनेस भी बना सकते हैं।


मुझे उम्मीद है कि कक्षा 12वी Arts के बाद क्या करे? इस सवाल का जवाब आपको अच्छे से मिल चुका होगा! फिर भी इस आर्टिकल को लेकर कोई सवाल है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating / 5. Vote count:

No votes so far! Be the first to rate this post.

Sarkari Eye
हम Sarkarieye.com वेबसाइट पर आपको सरकारी योजना, गवर्नमेंट स्कीम्स, ऐतिहासिक स्मारकों, घूमने की जगहों की जानकारी, इंटरनेट से संबंधित जानकारियां और लेटेस्ट जॉब अप्डेट्स के बारे में शेयर करते हैं।