PCS क्या है? PCS Full Form In Hindi

PCS क्या है? PCS Full Form In Hindi

PCS क्या है? PCS से जुड़ी जानकारी हिंदी में

क्या आप जानते हैं कि पीसीएस परीक्षा क्या है? पीसीएस ऑफीसर कैसे बने? तो आपको बता दें कि पीसीएस परीक्षा राज्य सेवा आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली एक सिविल सर्विसेज परीक्षा है। इस परीक्षा को पास करने के बाद अब राज्य में अच्छे ऑफिसर की पोस्ट पर अपना कैरियर बना सकते हैं।

यदि आप भी गवर्नमेंट जॉब पाना चाहते हैं और अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो आपको पीसीएस की परीक्षा पास करनी होगी। तो आइए आज के इस आर्टिकल में जानते हैं कि पीसीएस का फुल फॉर्म क्या है? (PCS Full Form In Hindi), PCS क्या है?, पीसीएस के लिए योग्यता, पीसीएस परीक्षा के पैटर्न के बारे में और पीसीएस परीक्षा से जुड़ी जानकारी हिंदी में जानते है।
तो आइए जानते हैं PCS से जुड़ी जानकारी हिंदी में…

पीसीएस का फुल फॉर्म (PCS Full Form In Hindi)

PCS का Full Form “Provincial Civil Services” होता है। पीसीएस का फुल फॉर्म हिंदी में “प्रांतीय सिविल सेवा” होता है।
पीसीएस का फुल फॉर्म जाने के बाद आई है के चलते पीसीएस होता क्या है?

पीसीएस क्या है? What Is PCS In Hindi?

PCS क्या है? PCS Full Form In Hindi

पीसीएस का पूरा नाम provisional civil services होता है, जिसे दूसरे शब्दों में राज्य सेवा आयोग के नाम से भी जाना जाता है। पीसीएस परीक्षा ग्रुप A और ग्रुप B में स्टेट लेवल सिविल सर्विस परीक्षा है।

जो आम तौर पर उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा आयोजित की जाती है। यह एक स्टेट सिविल सर्विस के लिए सही उम्मीदवार को चुनने के लिए एक multi-layered exam है। इस परीक्षा को उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) द्वारा आयोजित की जाती है।

पीसीएस परीक्षा के माध्यम से राज्य के भीतर पदों के लिए जैसे कि आरटीओ, SDM, BDO, जिला अधिकारी, DSP आदि पदों की भर्ती के लिए इस परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इस परीक्षा के तहत जिस पद की भर्ती होती है वह सभी पद राज्य सरकार के नियंत्रण में होते हैं।

इन्हे भी पढे:

एक बार आप पीसीएस ऑफीसर के तौर पर नियुक्त हो जाते हैं उसके बाद आपका किसी दूसरे राज्य में ट्रांसफर नहीं हो सकता है।
दोस्तों आशा करते हैं कि यहां तक आपको पीसीएस का फुल फॉर्म और पीसीएस परीक्षा क्या है कि बारे में जानकारी मिल चुकी होगी। आइए अब आगे जानते हैं पीसीएस परीक्षा के लिए योग्यता और पीसीएस से जुड़ी अन्य जानकारी हिंदी में

पीसीएस परीक्षा के लिए योग्यता (PCS Qualification Details In Hindi)

यदि आप भी पीसीएस परीक्षा देना चाहते हैं तो कुछ योग्यता को पूरा करना जरूरी है। पीसीएस परीक्षा के लिए कुछ जरूरी योग्यता है जिसके बारे में नीचे बताया है

  • उम्मीदवार भारत का व्यक्ति होना चाहिए।
  • इसी एस ऑफिसर बनने के लिए आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर डिग्री / ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार की उम्र कम से कम 21 वर्ष से 40 वर्ष के बीच में होनी चाहिए।
  • यदि उम्मीदवार का समावेश आरक्षित वर्ग में होता है तो उन्हें 5 साल की छूट भी दी जाती है।

पीसीएस परीक्षा के लिए सब्जेक्ट (PCS Subject Details In Hindi)

किसी भी राज्य सेवा आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षा के लिए कोई फिक्स सब्जेक्ट नही होता है। इसके अलावा जब भी आप किसी गवर्नमेंट ऑफिसर की पोस्ट के लिए तैयारी कर रहे हो तो आपको किसी एक सब्जेक्ट में एक्सपर्ट नहीं बल्कि ओवरऑल जानकारी होना जरूरी है।

फिर भी पीसीएस परीक्षा में कुछ ऐसे भी सही है जिसके ऊपर सबसे ज्यादा सवाल पूछे जाते हैं। नीचे मैंने पीसीएस परीक्षा के लिए सब्जेक्ट की लिस्ट दी है, जिस पर आप अपनी तैयारी शुरू कर सकते हैं…

  • इतिहास
  • अर्थशास्त्र
  • गणित
  • भूगोल
  • रसायन विज्ञान
  • कृषि विज्ञान
  • भौतिक विज्ञान
  • जीव विज्ञान
  • वनस्पति विज्ञान
  • पशुपालन और चिकित्सा विज्ञान
  • राजनीति विज्ञान
  • अंतर्राष्ट्रीय संबंधित जानकारी
  • सामाजिक विज्ञान

Note: यदि आप पीसीएस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आपको करंट अफेयर और न्यूज़ के बारे में भी रेगुलर अपडेट रहना चाहिए।

पीसीएस परीक्षा के पैटर्न (PCS Exam Pattern Details In Hindi)

दोस्तों पीसीएस परीक्षा की तैयारी शुरू करने से पहले आपको पीसीएस परीक्षा के पैटर्न या फिर पी सी एस ऑफिसर की सिलेक्शन प्रोसेस के बारे में जानकारी होना जरूरी है। नीचे मैंने पीसीएस परीक्षा की पैटर्न के बारे में बताया है तो आइए जानते हैं…

पीसीएस की परीक्षा तीन चरण में ली जाती है:

(1). प्रिलिमनरी परीक्षा

(2). मेन एग्जाम

(3). इंटरव्यू

1. प्रिलिमनरी परीक्षा (Preliminary Exam)

प्रिलिमनरी परीक्षा में 2 पेपर दिए जाते हैं। जिसमें पहला पेपर सिविल सर्विस एप्टीट्यूड टेस्ट (CTAT) का होता है। जिसमें 80 सवाल होते हैं जिनके 200 मार्क्स होते हैं।

इसके अलावा दूसरा पेपर होता है जिसका नाम होता है जनरल स्टडी (General Study), इस पेपर में 100 सवाल पूछे जाते हैं जिनके 200 मार्क्स होते हैं। दोनों पेपर को मिलाकर प्रिलिमनरी परीक्षा 400 मार्क्स की ली जाती है।

दोनों पेपर के लिए आपको 2 घंटे का समय दिया जाता है। इस परीक्षा के दोनों पेपर में सवाल मल्टीपल चॉइस और ऑब्जेक्टिव टाइप में पूछे जाते हैं।

2. मेन एग्जाम (Main Exam)

मेन एग्जाम में आपको जनरल स्टडी के चार पेपर देने होंगे, जिसके कुल मिलाकर 800 मार्क होते हैं। इसके अलावा आपको Optional Subject के भी दो पेपर देने होते हैं जो 400 मार्क्स के होते हैं।

इन सबके साथ दो पेपर हिंदी के होता है, जिसमे एक होता है General Hindi का जिसका 150 मार्क्स का पेपर होता है और दूसरा पेपर  Essay का होता है, जिसके 150 मार्क्स होते है।

यानी सब पेपर मिलाकर आपको Main Exam में कुल 1500 मार्क्स के पेपर देने होते है और इस परीक्षा के लिए आपको 3 घंटे का समय दिया जाता है।

3. इंटरव्यू (Personality Test)

ऊपर बताई गई दोनों परीक्षा पास करने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है, जिसे पर्सनैलिटी टेस्ट के नाम से भी जाना जाता है। इस पर्सनैलिटी टेस्ट के 100 मार्क्स होते है। इस इंटरव्यू को पास करने के बाद आपको पीसीएस ऑफिसर की पद दी जाती है।

पीसीएस ऑफिसर कैसे बने?

PCS क्या है? PCS Full Form In Hindi

दोस्तों एक पीसीएस ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले आपको Provincial Civil Services की परीक्षा देनी होगी, और इस परीक्षा को देने के लिए आपको किसी भी मान्यताप्राप्त यूनिवर्सिटी से बैचलर की डिग्री हासिल करनी होगी।

इन्हे भी पढे:

पीसीएस की परीक्षा में आपको सबसे पहले प्रिलिमनरी परीक्षा देनी होगी। जब आप इस परीक्षा को पास कर लेते हैं तो आपको मेन एग्जाम के लिए बुलाया जाता है। मेन एग्जाम को पास कर लेने के बाद आपको पर्सनैलिटी टेस्ट जाने के इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा। इंटरव्यू पास करने के बाद आपको आपके परफॉर्मेंस और मेरिट के आधार पर ऑफिसर की पोस्ट दी जाएगी।

पीसीएस परीक्षा के बाद जॉब पोस्ट (PCS Officer Job Post Details In Hindi)

एक बार आप पीसीएस की परीक्षा पास कर लेते हैं तो आपको किसी एस ऑफिसर के अंदर अलग-अलग जॉब पोस्ट दी जाती है। यह जॉब पोस्ट आपके परीक्षा परफॉर्मेंस और मेरिट के आधार पर दी जाती है। पीसीएस परीक्षा के अंदर बहुत सारे अलग-अलग जॉब पोस्ट शामिल होते हैं जिसके बारे में नीचे बताया है…

  • डेप्युटी कलेक्टर
  • डेप्युटी सुपरीटेंडेंट आफ पुलिस
  • ब्लॉक डेवलपमेंट ऑफिसर
  • असिस्टेंट रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफीसर
  • असिस्टेंट कमिश्नर
  • डिस्टिक कमांडेंट होम गार्ड
  • ट्रेजरी ऑफिसर
  • केन इंस्पेक्टर और असिस्टेंट शुगर कमिश्नर
  • सुपरिटेंडेंट जेल
  • मैनेजर क्रेडिट
  • मैनेजर मार्केटिंग एंड इकोनामिक सर्वे
  • एग्जीक्यूटिव ऑफीसर ग्रेड-1
  • डिस्टिक बेसिक एजुकेशन ऑफिसर
  • असिस्टेंट डायरेक्टर इंडस्ट्रीज
  • असिस्टेंट लेबर कमिश्नर
  • सीनियर लेक्चरर DIET
  • स्टैटिसटिकल ऑफीसर
  • कमर्शियल टैक्स ऑफिसर
  • डिस्ट्रिक्ट माइनॉरिटी वेलफेयर ऑफीसर
  • डिस्ट्रिक्ट फूड मार्केटिंग ऑफिसर
  • एग्जीक्यूटिव ऑफिसर (पंचायती राज)
  • डेप्युटी सेक्रेट्री
  • डिस्ट्रिक्ट सोशल वेलफेयर ऑफिसर
  • डिस्ट्रिक्ट बैकवार्ड वैल्फेयर ऑफिसर
  • नायब तहसीलदार
  • डिस्ट्रिक्ट सेविंग ऑफिसर
  • डिस्ट्रिक्ट पंचायती राज ऑफिसर
  • डिस्ट्रिक्ट सप्लाई ऑफीसर ग्रेड 2
  • असिस्टेंट एंप्लॉयमेंट ऑफिसर
  • रीजनल एंप्लॉयमेंट ऑफिसर
  • डिस्ट्रिक्ट हॉर्टिकल्चर ऑफीसर ग्रेड 2
  • डिस्ट्रिक्ट हॉर्टिकल्चर ऑफीसर ग्रेड 1
  • उत्तर प्रदेश एग्रीकल्चर सर्विस ग्रुप बी
  • डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर
  • डिस्ट्रिक्ट ऑडिट ऑफीसर (रेवेन्यू ऑडिट)
  • असिस्टेंट कंट्रोलर लीगल मेजरमेंट
  • डिस्ट्रिक्ट यूथ वेलफेयर एंड प्रादेशिक विकास दल ऑफिसर

दोस्तों जब आप पीसीएस परीक्षा को पास कर लेते हैं तो ऊपर बताई गई जॉब पोस्ट पर पीसीएस ऑफिसर बन सकते हैं और अपना कैरियर बना सकते हैं।

पीसीएस ऑफिसर की सेलरी (PCS Officer Salary In Hindi)

जब आप पीसीएस की परीक्षा पास कर लेते हो पी सी एस ऑफिसर बन जाते हैं तो आप की शुरुआती सैलरी लगभग 60 हजार के करीब शुरुआत होती है, लेकिन जैसे-जैसे समय बीतता है आपको अनुभव बढ़ता है वैसे वैसे आपकी सैलरी भी बढ़ती रहती है।

इसके अलावा एक पीसीएस ऑफिसर को सैलरी के अलावा रहने के लिए, घर में नौकर, आने जाने के लिए सरकारी वाहन और समाज में काफी इज्जत भी मिलती है।


आईएएस ऑफिसर और पीसीएस ऑफिसर के बीच क्या अंतर है? (Diffence Between IAS vs PSC Officer Details In Hindi)

कई सारे लोगों को यह सवाल होता है कि आईएएस ऑफिसर और पीसीएस ऑफीसर के बीच क्या अंतर है? दोनों का क्या काम होता है? तो आइए जानते…

  • एक आईएएस ऑफिसर को प्रेसिडेंट ऑफ इंडिया के द्वारा नियुक्त किया जाता है लेकिन आईएएस ऑफिसर राज्य सरकार के अंदर काम करते हैं, जिनका कैडर परिस्थितियों के आधार पर allocate किया जाता है। वहीं दूसरी ओर पीसीएस ऑफिसर को सीधा गवर्नमेंट ऑफ़ स्टेट द्वारा नियुक्त किया जाता है और यह ऑफिसर का सारा कंट्रोल राज्य सरकार के पास होता है।
  • एक आईएएस ऑफिसर का सैलरी, काम, पावर और फंक्शन एक पीसीएस ऑफिसर से अधिक होता है क्योंकि आईएएस ऑफिसर को पूरे भारत में ऑपरेशन के लिए तैनात किया जाता है जबकि एक पीसीएस ऑफीसर को सिर्फ अपने राज्य में, उसके कैडर में मैनेज के लिए पोस्ट दी जाती है।

आज आपने क्या सीखा (Final Words) –

दोस्तों आज के इस आर्टिकल में आपने जाना पीसीएस के बारे में जानकारी हिंदी में, जिसमें आपने जाना PCS Full Form In Hindi, PCS क्या होता है?, पीसीएस परीक्षा के लिए योग्यता, पीसीएस परीक्षा पैटर्न और जाना कि पीसीएस ऑफीसर कैसे बने?

इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद अब आपको PCS परीक्षा और PCS ऑफिसर से जुड़े सारे सवालों के जवाब मिल चुके हैं। फिर भी पीसीएस परीक्षा से जुड़े कोई सवाल है तो अब नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Sarkari Eye
हम Sarkarieye.com वेबसाइट पर आपको सरकारी योजना, Career Tips, ऐतिहासिक स्मारकों, घूमने की जगहों की जानकारी, इंटरनेट से संबंधित जानकारियां और लेटेस्ट जॉब अप्डेट्स के बारे में शेयर करते हैं।