Black Box क्या होता है? ब्लैक बॉक्स कैसे काम करता है?

Black Box क्या होता है? ब्लैक बॉक्स कैसे काम करता है?

Black Box क्या होता है? ब्लैक बॉक्स कैसे काम करता है? ब्लैक बॉक्स के बारे में जानकारी हिंदी में जब भी कोई विमान हादसा होता है तब रिसर्च टीम सबसे पहले ब्लैक बॉक्स क्यों खोजती है? आखिर ब्लैक बॉक्स में ऐसा क्या होता है? ब्लैक बॉक्स क्या होता है? ऐसे कई सारे सवालों के जवाब है जिसके बारे में आप जानना चाहते हैं तो आप सही जगह पर आए हैं।

आज के इस आर्टिकल में मैंने ब्लैक बॉक्स से जुड़ी जानकारी दी है जिसमें हम जानेंगे कि ब्लैक बॉक्स क्या होता है? Black Box कैसे काम करता है? Black Box का इतिहास और जानेंगे कि ब्लैक बॉक्स का निर्माण किसने किया?

तो आइए जानते हैं ब्लैक बॉक्स के बारे में जानकारी हिंदी में…

Black Box क्या होता है? (What Is Black Box In Hindi?)

Black Box क्या होता है? ब्लैक बॉक्स कैसे काम करता है?

Black Box जिसे दूसरे शब्दों में हम Flight Data Recorder के नाम से भी जानते है, जिसका उपयोग हवाई जहाज के उड़ान के दौरान विमान की सारी गतिविधियां रिकॉर्ड करने के लिए किया जाता है।

ब्लैक बॉक्स को हवाई जहाज के पिछले हिस्से में रखा जाता है। इसी ब्लैक बॉक्स की मदद से पता लगाया जाता है की विमान हादसे में या उड़ान के दौरान क्या हुआ था।

ब्लैक बॉक्स का इस्तेमाल सभी प्लेन में होता है, चाहे कार्गो प्लेन हो, फाइटर प्लेन हो या फिर पैसेंजर प्लेन हो, आदि के सभी में ब्लैक बॉक्स का इस्तेमाल किया जाता है।

ब्लैक बॉक्स को रखने के लिए सबसे मजबूत धातु टाइटेनियम का इस्तेमाल किया जाता है। ब्लैक बॉक्स को टाइटेनियम के बने डिब्बे में बंद किया जाता है ताकि काफी ज्यादा ऊंचाई से जमीन पर गिरने पर क्या समुद्र की पानी में गिरने की स्थिति में भी इसको कम से कम नुकसान हो सके।

ब्लैक बॉक्स काफी ज्यादा मजबूत होते हैं, यदि विमान में कोई विस्फोट होता है हा आग लग जाती है तो भी इसे कम से कम नुकसान होता है।

Also Read:

दोस्तो यहां तक आपने जाना की ब्लैक बॉक्स के बारे में जानकारी, ब्लैक बॉक्स के बारे में बेसिक सी जानकारी जानी। आइए अब जानते है की Black Box कैसे काम करता है?

Black Box कैसे काम करता है? ( How Black Box Works Details In Hindi )

जैसे कि आपको पहले ही बताया कि ब्लैक बॉक्स एक स्ट्रांग मेटल का बना हुआ होता है और इसको टाइटेनियम बॉक्स के अंदर रखा जाता है। यह 30 दिन तक बिना इलेक्ट्रिसिटी के बगैर भी काम करता है। सिर्फ यही नहीं यह ब्लैक बॉक्स 11000⁰C में काम करता है।

इसके अलावा ब्लैकफ़ॉक्स कहीं पर खो जाता है तो इस बॉक्स में से 30 दिन तक Beep Sound निकलता है, यह Beep Sound को आवाज 2 से 3 किलोमीटर तक आवाज जाती है। जिसकी मदद से खोज करता आसानी से किसी हादसे के बाद इस ब्लैक बॉक्स को खोज लेते है और पता लगा सकते है की आखिर यह हादसा हुआ क्यों?

सिर्फ यही नहीं ब्लैक बॉक्स समुद्र में 14000 फिर की गहराई में भी wave का उत्सर्जन करता है। ब्लैक बॉक्स की मदद से विमान दुर्घटना की क्लियर तस्वीर तो नहीं मिलती है लेकिन ऐसे एक्सीडेंट मामलों में एक बात यहीं से पता लग सकती है कि यह हादसा हुआ कैसे किस कारण से, किस खामी की वजह से यह हादसा हुआ था?

यहां पर आपको जानकारी मिल चुकी होगी कि ब्लैक बॉक्स प्लेन में कैसे काम करता है। आइए जानते ब्लैक बॉक्स का इतिहास के बारे में…

Black Box का इतिहास (History Of Black Box In Hindi)

Black Box क्या होता है? ब्लैक बॉक्स कैसे काम करता है?

ब्लैक बॉक्स का प्रोजेक्ट 50 साल से भी ज्यादा पुराना का है। जब 50 के दशक में विमान हादसों की संख्या बढ़ती जा रही थी तब साल 1953 से 1954 के करीब एक्सपर्ट ने विमान में एक ऐसा उपकरण लगाने के बाद कि जिस से जानकारी प्राप्त हो सके कि आखिर ये विमान हादसा किस वजह से हुआ था, ताकि भविष्य में होने वाले ऐसे आकस्मिक हादसों से बचा जा सके।

इसी वजह से विमान के लिए Black Box का निर्माण हुआ, लेकिन शुरुआत में इसका रंग लाल होने की वजह से यह “रेड एग” के नाम से भी जाना जाता था। लेकिन जैसे जैसे समय बीतता गया वैसे वैसे उस में कुछ चेंज किए जाते गए, बाद में इसका रंग काला कर दिया गया और इसी वजह से आज यह ब्लैक बॉक्स के नाम से जाना जाता है।

Black Box को किसने बनाया?

ब्लैक बॉक्स को David Ronald De Mey Warren AO ने बनाया था, जो एक ऑस्ट्रेलियन वैज्ञानिक थे। इन्होंने ही ब्लैक बॉक्स का आविष्कार किया था।

ब्लैक बॉक्स के अंदर क्या होता है?

ब्लैक बॉक्स के अंदर दो कंपोनेंट होते हैं जिसके बारे में जानकारी नीचे दी गई है…

फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर: ब्लैक बॉक्स में फ्लाइट डाटा रिकॉर्डर विमान की दिशा, विमान की ऊंचाई, विमान में उपयोग किए जाने वाला है ईंधन, स्पीड, हलचल, विमान के केबिन के तापमान और कभी में क्या बात होती है आदि के अलावा 81 प्रकार के रिकॉर्ड को 25 घंटों से ज्यादा तक रिकॉर्ड की गई जानकारी को सपोर्ट करता है। इस बॉक्स का रंग लाल या गुलाबी होता है।

कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर: ब्लैक बॉक्स में दूसरा जो कंपोनेंट होता है वह होता है कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर। इस कंपोनेंट की मदद से विमान में आखिरी 2 घंटों के दौरान विमान की आवाज को रिकॉर्ड करता है और स्टोर करता है।

Also Read:

या विमान के इंजन की आवाज, इमरजेंसी अलार्म की आवाज, केबिन की आवाज और कॉकपिट की आवाज को रिकॉर्ड करता है और अपने अंदर स्टोर करता है।

आज आपने क्या सीखा (Final Words) –

तो आज के इस आर्टिकल में आपने जाना कि Black Box क्या होता है? ब्लैक बॉक्स के इतिहास के बारे में, ब्लैक बॉक्स का इस्तेमाल क्यों किया जाता है? ब्लैक बॉक्स हवाई जहाज में कैसे काम करता है, ब्लैक बॉक्स में क्या होता है और इसके अलावा जाना कि ब्लैक बॉक्स का निर्माण किसने किया था।

मुझे उम्मीद है कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद अब आपको ब्लैक बॉक्स से जुड़ी जानकारी हिंदी में मिल चुकी होगी। फिर भी इस आर्टिकल को लेकर कोई सवाल है या कोई जानकारी शामिल करवाना चाहते हैं तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Sarkari Eye
हम Sarkarieye.com वेबसाइट पर आपको सरकारी योजना, Career Tips, ऐतिहासिक स्मारकों, घूमने की जगहों की जानकारी, इंटरनेट से संबंधित जानकारियां और लेटेस्ट जॉब अप्डेट्स के बारे में शेयर करते हैं।