वर्चुअल रियलिटी (VR) क्या है?

क्या आप वर्चुअल रियलिटी के बारे में जानते है? क्या है virtual reality? यदि नही जानते हैं तो आज आप सही जगह पर आए है।

दोस्तो वर्चुअल रियलिटी एक ऐसी दुनिया है, जिसमे इंसान इस Real world की तरह रह सकता है, घूम सकता है और वो सब कर सकता है जो इस real world में भी नही कर सकता है।

यह सिर्फ एक प्रकार की टेक्नोलॉजी की मदद से बनाई गई दुनिया है। पिछले कुछ समय में टेक्नोलॉजी का काफी विकास हुआ है और हरेक क्षेत्रों में काफी परिवर्तन भी हो चुके है। 

आज काफी सारे लोग वर्चुअल रियलिटी का उपयोग करते है और काफी सारे लोग इसके बारे में और जानकारी जानना चाहते हैं।

तो आज के इस आर्टिकल में वर्चुअल रियलिटी (VR) क्या है? और वर्चुअल रियलिटी से जुड़ी काफी सारी जानकारी हिंदी में दी गई है। तो आइए जानते हैं…

वर्चुअल रियलिटी क्या है?

वर्चुअल रियलिटी (VR) क्या है?

Virtual reality एक three-dimensional, कंप्यूटर की मदद से बनाया गया environment का वर्णन करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला शब्द है। वर्चुअल रियलिटी (VR) एक प्रकार से वास्तविक आभासी दुनिया होती है।

जिसे हम कंप्यूटर और दूसरे हार्डवेयर की टेक्नोलॉजी की मदद से क्रिएट करते है। इस क्रिएट की गई आभासी दुनिया में आपको सबकुछ रीयल वर्ल्ड जैसा ही देखने को मिलता है या उससे बेहतर या उसके विपरीत चीज देखने को मिलती है।

आज के समय में जब ही टीवी में कोई मूवी देखते है तो वो भी एक काल्पनिक है लेकिन इसे हम सिर्फ देख सकते है और सुन सकते है, लेकिन वर्चुअल रियलिटी में आप इन सभी चीजों को देख सकते है, सुन सकते है और महसूस भी कर सकते है। 

इस टेक्नोलॉजी में व्यक्ति इस वर्चुअल रियलिटी दुनिया का हिस्सा बन जाता है, इस दुनिया में घूम जाता है और वहां रहते हुए, वस्तुओं में हेरफेर करने या वो सभी एक्टिविटी कर सकता है, जो वो इस real world कर सकता है।

वर्चुअल रियलिटी शब्दों को यदि आप अलग करेंगे तो उसमें दो शब्दों का combination मिलेगा, जिसमे एक है Virtual जिसका अर्थ है आभासी वास्तविक और दूसरा जो शब्द है Reality जिसका अर्थ होता है वास्तविक

तो यहां तक आपने वर्चुअल रियलिटी क्या है इसके बारे में जानकारी अच्छे से जान चुके होंगे। अब आगे जानते कि वर्चुअल रियलिटी के प्रकार के बारे में…

वर्चुअल रियलिटी के प्रकार कितने हैं?

वर्चुअल रियलिटी (Virtual Reality) क्या है?

वर्चुअल रियलिटी के भी अलग-अलग प्रकार होते हैं, नीचे मैंने वर्चुअल रियलिटी के अलग-अलग प्रकार के बारे में और उससे जुड़ी जानकारी दी है..

Non Immersive Reality

Non immersive reality वर्चुअल रियलिटी ही एक प्रकार है, जिसमें आप आमतौर पर एक कंप्यूटर के माध्यम से एक वर्चुअल एनवायरनमेंट के साथ interact होते हैं, इसके साथ ही साथ आप उस विजुअल दुनिया में कुछ character और एक्टिविटी भी कर सकते है। लेकिन इस वर्चुअल दुनिया के environment से आप directly interact नही कर सकते है।

Non immersive वर्चुअल रियलिटी का सबसे अच्छा example है Dota 2 कंप्यूटर गेम, जिसमे आप अपने character को कंट्रोल कर सकते है, जिसका इफेक्ट आपको वर्चुअल एनवायरनमेंट गेम में देखने को मिलेगा। इसे आप एक तकनीक की मदद से इंटरेक्ट होते है लेकिन आप इस वर्चुअल एनवायरनमेंट में directly इंटरेक्ट नही कर सकते है।

Fully Immersive Reality

Fully immersive virtual reality ये non-immersive virtual reality से एकदम विपरीत है। इस वर्चुअल रियलिटी में आप वर्चुअल दुनिया का realistic अनुभव कर सकते है। इस वर्चुअल रियलिटी में आप फिजिकली उस दुनिया में होने का एक्सपीरियंस करते हैं और वहां जो आपके आसपास घटनाएं हो रही है उसे भी आप एक्सपीरियंस कर पाएंगे।

इस Virtual दुनिया का real experience करने के लिए आपको कुछ equipment की जरूरत होगी जैसे की वीआर चश्मा, ग्लोव, बॉडी डिटेक्टर इत्यादि की आवश्यकता होती है। इन सेंसरों के डेटा का उपयोग कंप्यूटर द्वारा किया जाता है और वर्चुअल दुनिया यूजर को realistic virtual experience प्रदान करने के लिए real-time में इसका रिस्पॉन्स देती है।

Semi-Immersive Virtual Reality

Semi-Immersive Virtual Reality ये non-immersive और fully immersive वर्चुअल रियलिटी के बीच में आता है। इस वर्चुअल रियलिटी में आप कंप्यूटर स्क्रीन या फिर VR ग्लास की मदद से आप वर्चुअल एनवायरनमेंट में एक्शन और move तो कर सकते है, इसको आप सिर्फ देख सकते है लेकिन इसका आपको कोई फिजिकल एक्सपीरियंस नही होगा।

इसका भी सबसे बड़ा example है Virtual Tour, इसको आप दूसरे शब्दों में web-based वर्चुअल रियलिटी भी कह सकते हैं। आज के समय में एक कई सारे बिजनेस में इस वर्चुअल रियालिटी तकनीक का उपयोग हो रहा है। जिसमें सभी मेंबर फिजिकल रूप से आने के बजाय Virtual Present होते है।

Augmented reality

Augmented Reality एक प्रकार के वर्चुअल रियालिटी है जिसमें यूजर को उस रियल दुनिया को अपने फोन की स्क्रीन पर देख सकते है और उसमे virtual change भी कर सकते है।

इस प्रकार की वर्चुअल रियलिटी की गेम आप सब ने भी खेली होगी। इसका सबसे बड़ा नाम Pokemon Go। इस प्रकार की वर्चुअल रियलिटी तो आप सिर्फ देख सकते और सुन सकते हैं लेकिन इसे फिजिकल तौर पर महसूस नहीं कर सकते हैं।

Collaborative

Collaborative Virtual Reality एक प्रकार की वर्चुअल रियलिटी है जिसमें अलग-अलग जगहों से यूजर अपनें 3D projected characters के साथ एक दूसरे से वर्चुअल दुनिया में कनेक्ट होते हैं।

इसका सबसे बड़ा Example है मोबाइल गेम जैसे की PlayerUnknowns Battlegrounds (PUBG), जिसमें अलग-अलग जगहों से अलग-अलग यूजर अपनें 3D projected characters के साथ गेम में एक दूसरे के साथ कनेक्ट होते है। PlayerUnknowns Battlegrounds (PUBG) गेम Collaborative VR का एक बेहतरीन उदाहरण है।

Final Conclusion –

दोस्तों आज से आगे आने वाले समय में वर्चुअल रियलिटी तकनीक बहुत ही इंपॉर्टेंट रोल निभाएंगी। इसका आज भी कई जगह पर उपयोग होना शुरू हो चुका है। तो आज के इस आर्टिकल में आपने जाना वर्चुअल रियलिटी क्या है और वर्चुअल रियलिटी के अलग-अलग प्रकार के बारे मे जानकारी जानी। 

अब मुझे उम्मीद है कि वर्चुअल रियालिटी से जुड़े काफी सारे सवालों के जवाब आपको मिल चुके होंगे। इसके अलावा इस आर्टिकल में यदि आप वर्चुअल रियलिटी से जुड़ी और जानकारी शामिल करवाना चाहते हैं तो नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं और आर्टिकल को अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Previous

E-Shram Card क्या है? E-Shram Card Yojana 2022

12th SCIENCE के बाद क्या करे?

Next
Jaypal Thakor

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.