भारत में ट्रेन इंजन की कीमत क्या है?

भारत में ट्रेन इंजन की कीमत क्या है?

भारत में ट्रेन इंजन की कीमत क्या है? Train engine विश्वसनीयता वाली प्रभावशाली मशीनें हैं। वे कई सुविधाओं और इलेक्ट्रॉनिक सुरक्षा प्रणालियों से तयार किया गया हैं। हालांकि, जितने अधिक equipment’s, उतनी ही अधिक कीमत।

तो, भारत में ट्रेन इंजन की कीमत क्या है? एक डीजल इंजन की कीमत $500,000-$2 million तक हो सकती है। जबकि एक इलेक्ट्रिक train engine की कीमत 6 मिलियन डॉलर से अधिक हो सकती है। कीमत इस बात पर निर्भर करती है कि यह AC या DC ट्रैक्शन द्वारा संचालित है, इसमें कितनी horse power है, या यह किस इलेक्ट्रॉनिक्स से बनाया गया है।

Transportation के कई साधनों की तरह, technology ने इंजनों की क्षमताओं और विशेषताओं में बहुत वृद्धि की है। बढ़ी हुई pulling power और संचालन में आसानी के साथ, train engine में technical रूप से सुधार जरुरी हैं। जबकि पहले से कहीं अधिक कुशलता से प्रदर्शन करते हैं।

कुछ simple modifications के साथ, locomotives के लिए दुनिया भर में कई अलग-अलग मौसमों में perform करना संभव है।रेल उद्योग में, efficiency एक sound operation की key है, और लोकोमोटिव सबसे महत्वपूर्ण assets में से एक है जो एक रेल कंपनी के पास होगी।

भारत में ट्रेन इंजन की कीमत क्या है?

भारत में ट्रेन इंजन की कीमत क्या है?

Diesel Engine Costs (डीजल इंजन की लागत)

Steam से चलने वाले engine ने railroading के विकास और स्वर्ण युग के दौरान एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, लेकिन, इसके लंबे और इतिहास के बावजूद, इसे विकसित देशों में आर्थिक और environmental कारणों से इलेक्ट्रिक और डीजल-इलेक्ट्रिक इंजनों द्वारा हटा दिया गया है।

Also Read:

कुछ steam इंजन जो विकसित देशों में operation में रहते हैं, ज्यादातर उदासीन अवशेष होते हैं जिनका उपयोग मुख्य रूप से पर्यटक ट्रेनों को खींचने के लिए किया जाता है।

Alternating Current (AC) लोकोमोटिव की लागत

AC इंजनों की increased pulling power के कारण, कीमत non- AC engine की तुलना में काफी अधिक होगी। AC locomotive का tractive force अपने ग्राहकों को non-AC locomotive की तुलना में 40,000 pound फीट अधिक tractive effort प्रदान करता है।

इस प्रकार के locomotive train के लिए cost savings प्रदान करते हैं, क्योंकि भारी ट्रेन को चलाने के लिए कम units की आवश्यकता होती है। यह रेल कंपनी को fuel और maintenance लागत पर एक महत्वपूर्ण राशि बचाता है।यह बिजली प्रदान करने वाले एक standard direct current (DC) generator के बजाय एक अल्टरनेटर के माध्यम से बनाया गया है।

इसके अतिरिक्त, AC current locomotives रखरखाव के लिए कम लागत वाले साबित हुए हैं। एक AC locomotives की लागत लगभग 2 मिलियन डॉलर होती है।

Direct Current (DC) लोकोमोटिव की लागत

कुछ शुरुआती डीजल इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव DC ट्रैक्शन द्वारा संचालित थे। ये उपयोगी मोटर हैं, हालांकि, वे एसी इंजनों द्वारा दी जाने वाली increased pulling power की पेशकश नहीं करते हैं। निर्माता के आधार पर DC locomotives की लागत लगभग 1.5 मिलियन डॉलर है।

हालांकि शक्तिशाली, ये units अपने AC counterparts की तुलना में कम tractive effort प्रदान करती हैं। Average AC locomotive 180,000 lbf tractive effort की आपूर्ति कर सकता है, जबकि average DC locomotive केवल 140,000 lbf tractive effort की आपूर्ति कर सकता है।

हालांकि ये लोकोमोटिव रेल ऑपरेटरों के लिए कम लागत की पेशकश करते हैं, एक decent आकार की ट्रेन को चलाने के लिए अधिक units की आवश्यकता होती है। उदाहरण के लिए, एक सौ car कोयला ट्रेन चलाने के लिए, एक रेल ऑपरेटर को केवल दो AC इंजनों का उपयोग करना होगा, हालांकि एक ही ट्रेन को चलाने के लिए तीन DC इंजनों की आवश्यकता होगी। 

Electric Locomotive की लागत

इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव efficient हैं, और प्रति यूनिट 6,000 हॉर्स पावर से अधिक हैं। इन units को बनाए रखना आसान है, क्योंकि इनमें prime mover, केवल जनरेटर और ट्रैक्शन मोटर्स शामिल नहीं हैं। कई इलेक्ट्रिक इंजनों को high speed के संचालन के लिए तैयार किया जाता है, जो उन्हें busy urban centers के लिए आदर्श बनाता है।

डीजल इंजनों की तरह, इलेक्ट्रिक इंजन AC या DC ट्रैक्शन पर चलते हैं। अधिकांश नए इलेक्ट्रिक इंजनों को AC ट्रैक्शन के साथ डिलीवर किया जाता है, क्योंकि यह अधिक हॉर्सपावर और cost effective होता है। यह एसी मोटर डीजल के समान काम करती है, सिवाय इसके कि बिजली on board prime mover के बजाय overhead wires के माध्यम से प्राप्त होती है।

Also Read:

कई DC इलेक्ट्रिक इंजनों को AC traction में बदल दिया जाता है क्योंकि यह अधिक efficient और cost effective होता है। हालांकि, इलेक्ट्रिक इंजनों की लागत काफी अधिक होती है, क्योंकि कुछ units $6 मिलियन से अधिक होती हैं।  

Factors Contributing to the Cost of Train Engine (ट्रेन इंजन की लागत में योगदान करने वाले कारक)

भारत में ट्रेन इंजन की कीमत क्या है?

लोकोमोटिव complicated machines होते हैं और एक कंप्यूटर की तरह technology से भरे होते हैं। ये technologies दैनिक संचालन को सुरक्षित बनाती हैं, और संचालन की विश्वसनीयता और efficiency में सुधार करती हैं। अधिकांश आधुनिक लोकोमोटिव कंप्यूटर स्क्रीन से जुड़े होते हैं जो इंजीनियर को speed, oil temperature, ट्रेन की लंबाई और अन्य सेटिंग्स सहित ट्रेन की स्थिति के बारे में वास्तविक समय की जानकारी देते हैं।

लोकोमोटिव की लागत का मुख्य factor प्राइम मूवर है, जो डीजल इंजन है जो लोकोमोटिव को शक्ति प्रदान करता है। अकेले प्राइम मूवर की कीमत $ 70,000 से अधिक है, इसके अतिरिक्त ट्रैक्शन मोटर्स की कीमत 15,000 डॉलर प्रति मोटर से अधिक हो सकती है। यदि लोकोमोटिव turbo-charged है, तो प्रति टर्बो चार्जर के लिए $10,000 से अधिक की अतिरिक्त लागत जोड़ी जाएगी।

Also Read:

इसके अतिरिक्त, लोकोमोटिव कई advanced electronics जैसे computerized displays, माइक्रोप्रोसेसर और एक इवेंट रिकॉर्डर से जुड़े होते हैं। इन devices को install करने के लिए complex wiring और सॉफ़्टवेयर की installation की आवश्यकता होती है।

Conclusion

Dual-mode train engine के लिए अनुमानित लागत 18 करोड़ है, जबकि 4500 HP diesel engine की लागत 13 करोड़ है। नए इंजन खरीदने की तुलना में इंजनों का पुनर्निर्माण कम expensive है।कई रेल कंपनियां नए इंजनों को खरीदने के बजाय पुराने इंजनों के पुनर्निर्माण पर विचार करती हैं, क्योंकि इससे रेल कंपनियों को पर्याप्त मात्रा में पैसे की बचत होती है।

Frequently Asked Questions (FAQ) –

  1. एक पुराना ट्रेन इंजन की कीमत कितनी है?

    Ans: एक इस्तेमाल किए गए लोकोमोटिव की कीमत कहीं भी $ 100,000 से अधिक हो सकती है। यह आकार पर निर्भर करता है और यह कितनी horsepower generate करता है। एक अन्य factor यह है कि यदि लोकोमोटिव एक पुनर्निर्माण के माध्यम से चला गया है, जिसका अर्थ है कि यूनिट में नए या refurbished parts हैं।

  2. ट्रेन के इंजन का वजन कितना होता है?

    Ans: लोकोमोटिव किस प्रकार का है, इसके आधार पर एक लोकोमोटिव का वजन 200,000-440,000 पाउंड तक हो सकता है। Tractive effort को बेहतर बनाने के लिए कई इंजनों को extra weight के साथ ऑर्डर किया जाता है।  

  3. ट्रेन के इंजन कितने समय तक चलता है?

    Ans: एक लोकोमोटिव 60 साल से अधिक समय तक चल सकता है, भले ही ठीक से बनाए रखा जाए। दैनिक सेवा में कई लोकोमोटिव साठ और सत्तर के दशक में बनाए गए थे, और अभी भी चल रहे हैं।एक लोकोमोटिव के जीवन को प्राइम मूवर जैसे rebuilding parts और electrical system को फिर से जोड़कर आगे समय तक चलाया जा सकता है।

  4. Modern locomotive कितने हॉर्स पावर की होती है?

    Ans: Modern locomotives में 1,500-6,000 हॉर्स पावर की capacity होती है। हॉर्सपावर निर्माता द्वारा भिन्न होता है, और लोकोमोटिव कैसे तैयार किया गया है। कुछ लोकोमोटिव में, नियमित maintenance cycle के दौरान एक स्विच के फ्लिप के साथ हॉर्स पावर को बढ़ाया या घटाया जा सकता है।

  5. भारतीय रेलवे इंजन की कीमत क्या है?

    Ans: Original importation cost के संदर्भ में यह मूल्य समय के साथ घटने लगा है। IDDM पहल जो स्वदेशीकरण को बढ़ावा देती है, सरकार की ओर से प्रशासित की जाती है।  वर्तमान में, CLW 40 लोकोमोटिव का production करता है और प्रमुख वस्तुओं के स्वदेशीकरण के बाद, प्रति लोकोमोटिव, यह बाजार में बारह डॉलर से भी कम है।

  6. ट्रेन बनाने में कितना खर्च है?

    Ans: ट्रेन की लागत कम से कम $ 5,000,000 होने की उम्मीद है जिसमें लोकोमोटिव के साथ-साथ इसमें शामिल कोच भी शामिल हैं।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

We are sorry that this post was not useful for you!

Let us improve this post!

Tell us how we can improve this post?

Sarkari Eye
हम Sarkarieye.com वेबसाइट पर आपको सरकारी योजना, Career Tips, ऐतिहासिक स्मारकों, घूमने की जगहों की जानकारी, इंटरनेट से संबंधित जानकारियां और लेटेस्ट जॉब अप्डेट्स के बारे में शेयर करते हैं।